हिन्दी (संचयन) (पाठ 1) (मिथिलेश्वर-हरिहर काका) (कक्षा 10) बोध प्रश्न

  • Previous

प्रश्न 1:

कथावाचक और हरिहर काका के बीच क्या संबंध थे?

उत्तर 1:

कथावाचक और हरिहर काका के बीच बहुत ही घनिष्ठ एवं मित्रता के संबंध थे। आपस में खून का रिश्ता न होते हुए भी हरिहर काका के प्रति लेखक के गहरे लगाव होने के मुख्य दो कारण थे।

· हरिहर काका लेखक के पड़ोसी थे।

· लेखक की माता का कहना है कि बचपन में हरिहर काका लेखक से बहुत प्रेम करते थे, और लेखक को कंधे पर बैठकार घुमाने ले जाया करते थे। बड़े होने पर लेखक और हरिहर काका के मध्य गहरी मित्रता हो गई इसलिए काका लेखक से कुछ भी नहीं छिपाते थे। अर्थात काका लेखक को अपनी सारी मन की बात बताते थे।

प्रश्न 2:

काका को महंत और अपने भाई दोनों एक ही श्रेणी के क्यों लगने लगे?

उत्तर 2:

15 बीघा ज़मीन के मालिक हरिहर काका की घर में खूब खातिरदारी हुआ करती थी, काका के तीनाेें छोटे भाइयों ने अपनी पत्नियों को ठीक तरह से समझा रखा था अर्थात बता रखा था कि काका की बहुत अच्छे से देखभाल करो। क्योंकि काका के मरने बाद उनकी सारी संपत्ति अपनी ही होने वाली है। परंतु भाइयों ने ऐसा नहींं किया, उन्होंने काका के साथ बुरा व्यवहार ही किया। काका की संपत्ति महंत को पता चलते ही उसने भी हरिहर काका की सेवा एवं देखभाल करना शुरू कर दिया और भाइयों को पता चले बिना ही उनकी 15 बीघा जमीन मंदिर के नाम लिखवाने की बात काका से कर ली। इस बात का पता भाइयों को लगने पर दोनों (महंत और काका के भाई) के बीच खतरानाक लड़ाई हुई, क्योंकि दोनों ही हरिहर काका की जमीन हथियाना अथवा छीनना चाहते थे। इसलिए हरिहर काका को महंत और अपने भाई दोनों एक ही वर्ग के नजर आने लगे थे। तात्पर्य काका को यह महसूस होने लगा था कि उनके भाई व महंत केवल उनकी संपत्ति में कब्जा करना चाहते हैं।

Explore Solutions for Hindi

Sign In