हिन्दी (संचयन) (पाठ 1) (मिथिलेश्वर-हरिहर काका) (कक्षा 10)

प्रश्न 5:

हरिहर काका को जबरन उठा ले जाने वाले कौन थे? उन्होंने उन के साथ कैसा व्यवहार किया?

उत्तर 5:

महंत और उसके साथीयों ने हरिहर काका के घर पर अचानक हमला कर दिया और हरिहर काका को जबरदस्ती घर से उठाकर ले गए अर्थात हरिहर काका का अपहरण कर ठाकुरबाड़ी नामक स्थान में ले जाकर बंद कर दिया। काका के भाई जब ठाकुरबाड़ी का दरवाजा खुलवाने गए तो महंत के साथियों ने उन पर भीतर से पत्थरों और हथियारों से हमला व वार कर दिया।

ठाकुरबाड़ी के अंदर महंत और उसके कुछ साधु एक कोरे कागज पर जबरन काका के अंगुठे का निशान लेने लगे। काका के अंगुठे के निशान देने से मना करने पर उन्हें पकड़कर उनके मुंह में कपड़ा ठुंसकर व उन्हे बांधकर एक कमरे में बंद कर दिया। काका के भाई वहां पुलिस लेकर आ गए। पुलिस दव्ारा एक-एक कमरे की तलाशी लिए जाने पर एक कमरे में हरिहर काका मुंह में कपड़ा ठुसे हुए और बंधे हुए मिले थे। अर्थात एक कमरे में काका बंधे हुए मिले थे।

प्रश्न 6:

हरिहर काका के मामले में गांव वालों की क्या राय थी और उसके क्या कारण थे?

उत्तर 6:

हरिहर काका के मामले में गांव वाले दो वर्गों में विभाजित हो गए, पहले वर्ग का कहना था कि साधुओं और डाकुओं में कोई भेद नहीं रह गया हैं, इन साधुओं ने ठाकुरबाड़ी की पवित्रता अर्थात शुद्धता को भंग किया है। दूसरा वर्ग साधु संतों के पक्ष में था उसका कहना था कि कभी-कभी धर्म के विकास व विस्तार और परमार्थ के लिए साधुओं को भी ऐसा कर्म करना पड़ता है। अर्थात दूसरे गुट के अनुसार साधु व संतो को धर्म की प्रगति के लिए कभी-कभी ऐसे कार्य करने पड़ते हैं।

Explore Solutions for Hindi

Sign In