हिन्दी (संचयन) (पाठ 1) (मिथिलेश्वर-हरिहर काका) (कक्षा 10)

प्रश्न 7:

कहानी के आधार पर यह स्पष्ट कीजिए कि लेखक ने यह क्यों कहा कि ’अज्ञान की स्थिति में ही मनुष्य मृत्यु से डरते हैं। ज्ञान होने के बाद तो आदमी आवश्यकता पड़ने पर मृत्यु को वरण करने के लिए तैयार हो जाता है।’

उत्तर 7:

हरिहर काका की भूमि को हथियाने के लिए महंत ने उनका अपहरण कर लिया जमीन के कागज पर निशान लेने के लिए उन्हें कमरे में पकड़कर बांध डाला। उनके भाइयों ने भी उनके साथ बुरा व्यवहार किया यहां तक की उनके भाइयों ने भी काका को मारने तक का प्रयास किया गया, यह सब देखकर हरिहर काका का रिश्तों, नाते और जिंदगी पर से भरोसा उठ गया तथा उन्हें अब मरने तक का डर नहीं रह गया था। अर्थात प्रस्तुत सब बातें जानकर काका को दुनिया की बाते समझ में आ गई। अत: उनके अंदर ज्ञान का प्रकाश जाग्रत हो गया। जिस कारण से काका को मरने से भी डर नहीं लग रहा था।

प्रश्न 8:

समाज में रिश्तों की क्या अहमियत हैं? इस विषय पर अपने विचार प्रकट कीजिए।

उत्तर 8:

हम सभी किसी न किसी प्रकार से एक दूसरे से जुड़े हुए हैं जिससे समाज का निर्माण हुआ है। समाज में अनेक रिश्ते, नाते व संबंध व्यक्ति को व्यक्ति से जोड़े रखते हैं जिससे परिवार का निर्माण होता हैं। अर्थात एक परिवार बनता है। परिवार में व्यक्ति सुरक्षित रहता है, आपस में भरोस बढ़ता है। यही भरोस जब टूटता है तो व्यक्ति भी टूट जाता है, जैसा कि हरिहर काका के साथ हुआ था। अर्थात काका का भी विश्वास अपनों के दव्ारा धोखा मिलने पर पूरी तरह से टूट गया था।

प्रश्न 9:

यदि आपके आसपास हरिहर काका जैसी हालत में कोई हो तो आप उसकी किस प्रकार से मदद करेंगे?

उत्तर 9:

यदि हमारे आसपास हरिहर काका जैसी हालत में कोई व्यक्ति हो तो हम पहले उसके परिवार वालों को समझाने की कोशिश करेंगे। इसके बाद मे भी अगर परिवार वालों पर हमारी कोशिशों का कोई प्रभाव नहीं पड़ा, तो हम उस परिवार का सामाजिक स्तर पर बहिष्कार करेंगे अर्थात समाज के दव्ारा विरोध करेंगे और हरिहर काका जैसे व्यक्ति की संपूर्ण सामाजिक मदद करेंगे। अर्थात काका जैसे मुनष्य की समाज के माध्यम से पूर्णतया: सहयोग एवं सहायता करेंगे।

प्रश्न 10:

हरिहर काका के गांव में यदि मीडिया अर्थात संचार माध्यम की पहुंच होती तो उनकी क्या स्थिति होती? अपने शब्दों में लिखिए।

उत्तर 10:

आजकल का युग आधुनिक युग है जिसमें हम सभी संचार माध्यम में पूरी तरह आश्रित हैं अर्थात हम संचार माध्यम में ही निर्भर हैं समाज की क्षण-क्षण की खबरें हमें संचार माध्यम से ही मिलती है अर्थात समाज की कोई सी भी खबर हमें संचार के दव्ारा मिल जाती हैं यदि काका के गांव में संचार माध्यम की पहुंच होती तो हरिहर काका पर अत्याचार व अपहरण करने वाले लोगों पर उचित कानूनी कार्यवाही की जाती और समाज को भी उचित सबक मिलता है। अर्थात कानून के दव्ारा आरोपी लोगों को सजा मिलने से गांव वाले भी सुधर जाते।

Explore Solutions for Hindi

Sign In