हिन्दी (स्पर्श) (पाठ 1) (प्रेमचन्द्र-बड़े भाई साहब) (कक्षा 10) प्रश्न अभ्यास खंड-क

  • Previous

प्रश्न 1:

छोटे भाई ने अपनी पढ़ाई का टाइम-टेबिल (समय सारणी) बनाते समय क्या-क्या सोचा और फिर उसका पालन क्यों नहीं किया?

उत्तर 1 :

बड़े भाई की डांट सुनकर छोटे भाई ने अपने पढ़ाई का टाईम-टेबल (समय सारणी) बनाया, जिसमें छोटे भाई ने अपनी सुविधा के अनुसार प्रात: 6 बजे तक उठने का, नाश्ता करने का, पढ़ने का व बैठने की व्यवस्था की उसके बाद 6 से 8 बजे तक अंग्रेजी विषय पढ़ने का समय रखा, उसके बाद 8 से 9 बजे तक हिसाब करने का, फिर 9 से 9:30 तक इतिहास पढ़ने का और अंत में भोजन कर विद्यालय जाने का समय बनाया। विद्यालय से आने के बाद फिर पढ़ने का समय बनाया, पर मैदान की सुखद हरियाली और खेल आदि के मोह, प्यार में पढ़कर इस कारण से समय सारणी पर ध्यान नहीं दिया अर्थात समय सारणी पर अमल नहीं कर पाया। अत: छोटे भाई ने पूरी समय सारणी अपनी सुविधा के अनुसार बनाई पर खेल में अधिक ध्यान होने के कारण वह अपनी बनाई हुई समय सारणी पर ध्यान नहीं दें पाया।

प्रश्न 2 :

एक दिन जब गुल्ली-डंडा खेलने के बाद जब छोटा भाई बड़े भाई के सामने पहुंचा तो उनकी क्या प्रतिक्रिया हुई?

उत्तर 2 :

एक दिन जब गुल्ली-डंडा खेलने के बाद जब छोटा भाई बड़े भाई के सामने पहुंचा तो उनकी प्रतिक्रिया यह हुई कि बड़े भाई साहब ने छोटे भाई को बहुत सुनाया अर्थात उसको उपदेश देने लगे और उपदेश देते हुए समझाने लगे कि कक्षा में प्रथम आने पर अभिमान मत करों। अभी तो तुम छोटी कक्षा में हो जब बड़ी कक्षा में जायोंगे तब क्या करोगे क्योंकि उस समय अंग्रजी व इतिहास आदि विषयों को पढ़कर दिमाग खराब हो जाएगा। अर्थात बड़ी कक्षाओं के विषय पढ़ने में कठिन होते हैं। असली वस्तु वो हैं जिसमें दिमाग का विकास बड़े होने के साथ होता है। इसलिए मैं अभी तुमसे बड़ा हूं जो तुमे समझा रहा हूं। बाद में तुमे पढ़ाई के बारे में कौन समझाएगा?

Explore Solutions for Hindi

Sign In