NCERT Class 9 Hindi Chapter 10 Part 1 कक्षा 9 एनसीईआरटी पाठ-10

Download PDF of This Page (Size: 173K)

प्रश्न 1

लेखक के अनुसार जीवन में ’सुख’ से क्या अभिप्राय है?

उत्तर - पूर्व इस प्रश्न का उत्तर भाग-1 में दे चुके हैं।

प्रश्न 2

आज की उपभोक्तावादी संस्कृति हमारे दैनिक जीवन को किस प्रकार प्रभावित कर रही है?

उत्तर - आज की उपभोक्तावादी संस्कृति हमारे जीवन पर हावी हो रही है। मनुष्य आधुनिक बनने की होड़ में बौद्धिक दासता स्वीकार कर रहे हैं, पश्चिम की संस्कृति का अनुकरण किया जा रहा है। आज उत्पाद को उपभोग की दृष्टि से नहीं बल्कि महज दिखावे के लिए खरीदा जा रहा है। विज्ञापनों के प्रभाव से हम दिग्भ्रमित हो रहे हैं।

प्रश्न 3

गांधी जी ने उपभोक्ता संस्कृति को हमारे समाज के लिए चुनौती क्यों कहा है?

उत्तर -उपभोक्ता संस्कृति से हमारी सांस्कृतिक अस्मिता का हृास हो रहा है। सामाजिक दृष्टिकोण से यह एक बड़ा खतरा है। भविष्य के लिए यह एक बड़ी चुनौती है, क्योंकि यह बदलाव हमें सामाजिक पतन की ओर अग्रसर कर रहा है।

प्रश्न 4

आशय स्पष्ट कीजिए-

(क) जाने-अनजाने आज के माहौल में आपका चरित्र भी बदल रहा है और आप उत्पाद को समर्पित होते जा रहे हैं।

उत्तर - इस प्रश्न का उत्तर पूर्व में भाग-1 में चुके हैं

(ख) प्रतिष्ठा के अनेक रूप होते हैं, चाहे वे हास्यापद ही क्यों न हो।

उत्तर - इस प्रश्न का उत्तर पूर्व में भाग-1 में चुके हैं

प्रश्न 5

कोई वस्तु हमारे लिए उपयोगी हो या न हो, लेकिन टी.वी. पर विज्ञापन देखकर हम उसे खरीदने के लिए अवश्य लालायित होते हैं? क्यों?

उत्तर -आज का मनुष्य विज्ञापन के बढ़ते प्रभाव से स्वयं को मुक्त नहीं कर पाया है। आज विज्ञापन का संबंध केवल सुख-सुविधा से नहीं है बल्कि समाज में अपने प्रतिष्ठा की साख को कायम रखना ही विज्ञापन का मुख्य उद्देश्य बन चुका है। यही कारण है कि जब भी टी.वी. पर किसी नई वस्तु का विज्ञापन आता है तो लोग उसे खरीदने के लिए लालायित हो उठते हैं।