NCERT Class 9 Hindi Chapter 9 Part 1 कक्षा 9 एसीईआरटी पाठ-9

Download PDF of This Page (Size: 170K)

प्रश्न 1 थोङ्‌ला के पहले के आखिरी गाँव पहुँचने भिखमंगे के वेश में होने के बावजूद लेखक को ठहरने के लिए उचित स्थान मिला जबकि दूसरी यात्रा के समय भ्रद वेश भी उन्हें उचित स्थान नहीं दिला सका। क्यों?

उत्तर - लेखक के मित्र सुमति की यहाँ के लोगों से जान-पहचान होने के कारण भिखमंगों के वेश में रहने के बावजूद भी उन्हें ठहरने के लिए अच्छी जगह मिली।

जबकि दूसरी यात्रा के समय जानकारी न होने के कारण भद्र यात्री के वेश में आने पर भी उन्हें रहने के लिए उचित स्थान नहीं मिला। उन्हें गाँव के एक सबसे गरीब झोंपड़े में ठहरने को स्थान मिला। ऐसा होना बहुत कुछ, लोगों की उस समय की मनोवृत्ति पर भी निर्भर करता है। क्योंकि शाम के समय छङ्‌ पीकर बहुत कम होश-हवास को दुरुस्त रख पाते हैं।

प्रश्न 2

लेखक के अनुसार जीवन में ’सुख’ से क्या अभिप्राय है?

उत्तर -इस प्रश्न का उत्तर पूर्व में भाग-1 में आ चुका हैं।

प्रश्न 3 लेखक लङ्‌कोर के मार्ग में अपने साथियों से किस कारण पिछड़ गया?

उत्तर - लङ्‌कोर के मार्ग में लेखक का घोड़ा थककर धीमा चलने लगा था इसलिए लेखक अपने साथियों से पिछड़कर रास्ता भटक गए।

प्रश्न 4 ’लेकिन औरत जात पर सींग चलाना मना है, यह भूल जाते हो।’-हीरा के इस कथन के माध्यम से स्त्री के प्रति प्रेमचंद के दृष्टिकोण को स्पष्ट कीजिए।

उत्तर -इस प्रश्न का उत्तर पूर्व में भाग-1 आ चुका हैं।

प्रश्न 5

अपनी यात्रा के दौरान लेखक को किन कठिनाइयों का सामना करना पड़ा?

उत्तर -

यात्रा के दौरान लेखक को निम्नलिखित कठिनाइयों का सामना करना पड़ा-

• उस समय भारतीयों को तिब्बत यात्रा की अनुमति नहीं थी। इसलिए उन्हें भिखमंगे के रुप में यात्रा करना पड़ी।

• चोरी के डर से भिखमंगों को वहाँ के लोग घर में घुसने नहीं देते थे। इसी कारण लेखक को भी ठहरने के स्थान को लेकर कठिनाई का सामना करना पड़ा।

• डाँड़ा थोङ्‌ला जैसी खतरनाक जगह को पार करना पड़ा।

• लङ्‌कोर का रास्ता तय करते समय रास्ता भटक जाने के कारण वे अपने साथियों से बिछड़ गए।