प्रत्यय

Doorsteptutor material for CTET/Paper-2 Hindi is prepared by world's top subject experts: Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

प्रत्यय की परिभाषा- ’प्रत्यय’ शब्द का अर्थ है- एक साथ बाद में या पीछे चलने वाला। उपसर्ग तो शब्द के पहले जुड़ते हैं और प्रत्यय शब्द के पीछे जोड़े जाते हैं। प्रत्यय वे शब्दांश हैं, जो धातुओं या शब्दों के अंत में जुड़कर उसके अर्थ और स्वरूप को बदल देते हैं। प्रत्यय जोड़कर संज्ञा और विशेषण शब्द बनाये जाते हैं।

प्रत्यय के भेद-प्रत्यय दो प्रकार के होते हैं-

• कृत प्रत्यय

• तद्धित प्रत्यय।

कृत प्रत्यय- ये वे प्रत्यय हैं जो धातु के अंत में लगते हैं। कृत प्रत्यय से बने शब्द ’कृदंत’ कहलाते हैं। कृदंत शब्द का अर्थ है वह शब्द जिसके अंत में कृत प्रत्यय लगा हो। ’कृदंत शब्द बना है-कृत+अंत = कृदंत।

कृदंत का उदाहरण-

• लिख+आवट =लािखावट

• पढ़+ना = पढ़ना

• पढ़+ता = पढ़ता

• पढ़+कर = पढ़कर।

तद्धित प्रत्यय-ध्ाातु को छोड़कर अन्य शब्दों में लगने वाले प्रत्यय तद्धित प्रत्यय कहलाते हैं। जिसके अंत में तद्धित प्रत्यय जुड़ा हो, वह है ’ तद्धितांत’। तद्धितांत शब्द बना है- तद्धित+अंत।

तद्धित प्रत्यय जोड़े गये शब्दों के उदाहरण-

• शत्रु+ता = शत्रुता

• भला+ई =भलाई।

कृत प्रत्यय और उनसे बने शब्द

कृत प्रत्यय

कृत प्रत्यय जोड़कर बने शब्द

अक

कारक, पाचक, रक्षक, लेखक, पाठक

ता

नेता, श्रोता, दाता, भोक्ता, बहता

ति

स्थिति, शांति, उक्ति, गति, युक्ति।

चलन, खान, पान, यत्न, विघ्न।

ना

बेलना, घोटना, गाना, खाना।

तद्धित प्रत्यय और उनसे बने शब्द

आई

बुराई, मिठाई, सिलाई कढ़ाई, बुनाई।

इत

अंकुरित, प्रचलित, खंडित, फलित, अपमानित।

पन

लड़कपन, बचपन, पागलपन, बांझपन।

संगत, पंगत, रंगत

आस

मिठास, खटास

अन्य उर्दू प्रत्यय और उनसे बने शब्द

अंदाज

तीरंदाज, गोलंदाज

दार

दुकानदार, ईमानदार, कर्जदार, खबरदार, मालदार।

बाज

धोखेबाज, पतंगबाज, दगाबाज, कलाबाज, निशानेबाज।

नाक

शर्मनाक, दर्दनाक, खतरनाक।

खाना

कैदखाना, महखाना, तहखाना।

उपसर्ग और प्रत्यय का एक साथ प्रयोग

कुछ शब्द ऐसे होते हैं जिनमें उपसर्ग और प्रत्यय दोनों का प्रयोग होता है; जैसे-

शब्द

उपसर्ग

मूल शब्द

प्रत्यय

अमानवीयता

ट +

मनवीय+

ता

बेकारी

बे +

कार +

स्वदेशी

स्व+

देश +

अनजानी

अन +

जन+

स्वाभाविक

स्व+

भाव+

इक