CBSE Summary कक्षा-9 अध्याय-3 निर्देशांक ज्यामिति (Coordinate Geometry) (For CBSE, ICSE, IAS, NET, NRA 2022)

Get unlimited access to the best preparation resource for CBSE/Class-9 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CBSE/Class-9.

निर्देशांक ज्यामिति (Coordinate Geometry)

  • संख्यारेखा पर धनात्मक संख्याओं और ऋणात्मक संख्याओं के मध्यबिंदु को मूलबिन्दु कहा जाता है।
  • क्षैतिज रेखा को x अक्ष और ऊर्ध्वाधर रेखा को y अक्षकहाजाताहै।
  • जिस बिंदु पर x अक्ष और y अक्ष एकदूसरे को प्रतिच्छेद करते हैं उस बिंदु को मूल बिन्दु कहा जाता है।
  • OX और OY की दो-दो धनात्मक और दो-दो ऋणात्मक दिशाएँ होती हैं।
  • तलको निर्देशांकतल या कार्तीयतल और रेखा ओं को निर्देशांक अक्ष कहा जाता है।
  • x अक्षऔर y अक्षतलको चारभागों में बाँट ते हैं जिन्हें चतुर्थांश (एकचौथाई) कहा जाता है।
  • कार्तीयतल मेंदोनों अक्ष और चारों चतुर्थांशोंको सम्मिलित किया जाताहै। कार्तीयतल को निर्देशांक तलया xy तलभी कहा जाता है।
  • किसी बिंदुका x निर्देशांक y अक्ष से उस बिंदु की लंबि कदुरी है, जिसे हम x अक्ष पर मापते हैं। यह बिंदु x अक्ष की धनात्मक दिशामें धनात्मक और ऋणात्मक दिशामें ऋणात्मक होता है।
  • x निर्देशांकको भुज और y निर्देशांकको कोटि कहा जाता है।
  • निर्देशांकतल में किसी बिंदुके निर्देशांक में पहले x अक्षका निर्देशांक लिखा जाता है और बाद में y अक्षका।
  • मूलबिन्दु के निर्देशांकहोतेहैं क्योंकि इसकी दूरी x अक्षऔर y अक्ष से शून्य है। अतःहम कह सकते हैं कि मूलबिन्दुके x निर्देशांकऔर y निर्देशांकदोनोंशून्यहोंगे।
  • पहले चतुर्थांश में x अक्ष और y अक्ष दोनोंके प्रत्येक बिंदु धनात्मक होते है, अतःबिंदु के रूप का होगा। इसी प्रकार दूसरे चतुर्थांश में तीसरे चतुर्थांशमें और चौथे चतुर्थांशमें के रूपका होता है।
  • यदि हमें किसी बिंदुके निर्देशांक ज्ञात हैं तो हम उन बिदुओं को चतुर्थांश में दिखा सकते है इसे ‘बिंदुकाआलेखन’ कहा जाता है।
  • यदि x और y बराबरनहीं हैं तो और की स्थितितल में भिन्न भिन्न होगी। यदि तो

Developed by: